अकल और नकल-हिन्दी कविताऐ


खाने पीने पहनने और रहन सहन में

अंग्रेजों की करते हम नकल,

पढ़ पढ़ अंग्रेजी अपनी हिन्दी हो गयी हिंग्लिश

चरने लगी है मनोरंजन की घास हमारी अकल।

कहें दीपक बापू उपभोग में नया फैशन अपनाते हैं

नहीं होती अब चौपाल पर अध्यात्मिक चर्चा

बीमार लोग राजरोग पर अपना ज्ञान दर्शाते हैं।

रोटी की जगह जीभ पीजा और बर्गर का स्वाद मांगती है,

आंखें सच से ज्यादा पांखंड पर अपनी नज़र टांगती हैं।

निज स्वामित्व के सपने अब नहीं देखता कोई

गौरव गाथा  लोग सुनते बड़े चाव से

उनकी जो गुलामी के शिखर पर पहुंचने में रहे सफल।

———–

एकरसता में जीने का आदी विलासिता में फंसा समाज,

मौसम के बदलने से परेशान हो रहा है आज।

वातानुकूलित कक्ष में बैठकर अपनी ऊंची हैसियत पर

इतराते लोग भूख पर बहस में होते मशगूल,

बेबात के विषय को देते जोरदार तूल,

जिनके पेट चिकनी रोटी से भरे हैं,

महंगाई पर चर्चा करते हुए उनकी आंखों में आंसु भरे हैं,

कहें दीपक बापू सभी दे रहे हैं अपने अपने बयान

किसके हाथ में है हालातों पर काबू करने की ताकत

यह अभी तक बना हुआ राज है।

————-

लेखक एवं कवि-दीपक राज कुकरेजा ‘‘भारतदीप,

ग्वालियर मध्यप्रदेश

writer and poet-Deepak Raj kurkeja “Bharatdeep”

Gwalior Madhya Pradesh

कवि,लेखक संपादक-दीपक भारतदीप, ग्वालियर
http://rajlekh.blogspot.com 

यह आलेख इस ब्लाग ‘दीपक भारतदीप का चिंतन’पर मूल रूप से लिखा गया है। इसके अन्य कहीं भी प्रकाशन की अनुमति नहीं है।

अन्य ब्लाग

1.दीपक भारतदीप की शब्द पत्रिका
2.अनंत शब्दयोग
3.दीपक भारतदीप की शब्दयोग-पत्रिका
4.दीपक भारतदीप की शब्दज्ञान पत्रिका

Post a comment or leave a trackback: Trackback URL.

टिप्पणियाँ

  • Anil Dubey  On नवम्बर 1, 2014 at 4:59 अपराह्न

    good

    शनिवार, 1 नवंबर, 2014 10:08 AM को, दीपक भारतदीप की शब्द- पत्रिका ने लिखा:

    WordPress.com दीपक भारतदीप posted: “खाने पीने पहनने और रहन सहन में अंग्रेजों की करते हम नकल, पढ़ पढ़ अंग्रेजी अपनी हिन्दी हो गयी हिंग्लिश चरने लगी है मनोरंजन की घास हमारी अकल। कहें दीपक बापू उपभोग में नया फैशन अपनाते हैं नहीं होती अब चौपाल पर अध्यात्मिक चर्चा बीमार लोग राजरोग पर अपना ज्”

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: